Vande Bharat Mission To Bring Back Indians Stranded Abroad Due To Coronavirus Lockdown All Details And Updates – वंदे भारत मिशन : 31 उड़ानों से स्वदेश वापस लाए गए विदेशों में फंसे 6037 भारतीय

0
24


वंदे भारत मिशन के तहत विदेशों से वापस लाए गए भारतीय
– फोटो : पीटीआई

ख़बर सुनें

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस को रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन के चलते दुनिया के विभिन्न देशों में फंसे भारतीयों को अपने देश वापस लाने के लिए केंद्र सरकार द्वारा शुरू किए गए वंदे भारत मिशन के तहत अभी तक कुल 31 उड़ानों से 6037 भारतीयों को वापस लाया जा चुका है। 

नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने बताया कि सात मई 2020 से शुरू हुए मिशन के पहले चरण के तहत अब तक 31 उड़ानों के जरिए 6037 भारतीय नागरिकों को देश वापस लाया जा चुका है। उन्होंने बताया कि पहले चरण में कुल 14,800 भारतीयों को वापस लाने की योजना है। 

बता दें कि वंदे भारत मिशन के तहत एयर इंडिया और उसकी सहायक एयर इंडिया एक्सप्रेस 12 देशों में 64 उड़ानों का परिचालन कर रही है। इनमें 42 उड़ानों का परिचालन एयर इंडिया और 24 उड़ानों का परिचालन एयर इंडिया एक्सप्रेस कर रही है। इन 12 देशों में अमेरिका, लंदन, बांग्लादेश, सिंगापुर, सऊदी अरब, कुवैत, फिलीपींस, यूएई और मलयेशिया आदि शामिल हैं। 

ऑपरेशन समुद्र सेतु से देश वापस आए 202 भारतीय

वहीं, ऑपरेशन समुद्र सेतु के तहत भारतीय नौसेना के पोत ‘आईएनएस मगर’ से 202 भारतीय नागरिक मालदीव से स्देवश वापस लाए गए हैं। आईएनएस मगर केरल के कोच्चि हार्बर पर प्रवेश कर चुका है। आईएनएस मगर शाम 5.45 बजे कोच्चि पोर्ट पर पहुंचा। इससे आए नागरिकों में 91 केरल के, 83 तमिलनाडु के और 28 नागरिक अन्य 15 राज्यों से हैं।

आईएनएस मगर को ऑपरेशन समुद्र सेतु के दूसरे चरण में तैनात किया गया है। पहले चरण में आईएनएस जलश्व से 10 मई को 698 भारतीय नागरिकों को मालदीव से लाया गया था। वहीं, एक रक्षा अधिकारी ने बताया कि 15 मई को आईएनएस जलश्व 700 लोगों को मालदीव से लेकर आएगा।   

वंदे भारत मिशन के तहत विदेशों में फंसे भारतीय नागरिकों को निकालने के अभियान के तहत, एयर इंडिया का एक विमान ब्रिटेन में फंसे 331 लोगों को लेकर यहां अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर पहुंचा। हवाईअड्डे के सूत्रों ने कहा कि बोइंग 773 विमान तड़के 2:21 बजे यहां पहुंचा। बाद में, यही विमान दिल्ली होते 87 यात्रियों को लेकर अमेरिका गया।

यात्रियों को मुख्य यात्री टर्मिनल के पूरी तरह स्वच्छ एवं रोगमुक्त अंतरराष्ट्रीय आगमन स्थल से ले जाया गया। यात्रियों की स्वास्थ्य जांच के बाद, सुरक्षात्मक उपकरण पहने सीआईएसएफ कर्मी यात्रियों के समूह को आप्रवासन काउंटर तक ले गए। यहां आगमन के बाद यात्रियों को निर्धारित स्थानों पर पृथक वास के लिए ले जाया गया।

फिलीपींस में फंसे 139 भारतीय विद्यार्थी मनीला से एक विशेष विमान में मंगलवार सुबह अहमदाबाद हवाईअड्डे पर पहुंचे। गुजरात सरकार ने यह जानकारी दी। ये गुजराती छात्र उच्च शिक्षा के लिए फिलीपींस गए थे और लॉकडाउन के चलते वहां फंस गए थे।

गुजरात सरकार ने कहा, फिलीपींस की राजधानी मनीला से 139 छात्रों को निकाला गया। एक विशेष विमान से वे मंगलवार सुबह अहमदाबाद हवाईअड्डे पर पहुंचे। उनके आगमन के बाद, उन्हें उनके संबंधित जिलों में भेजा गया जहां उन्हें 14 दिनों के लिए पृथक-वास में रखा जाएगा। राज्य के अधिकारियों ने इससे पहले घोषणा की थी कि गुजरात से 1,000 छात्रों को अलग-अलग देशों से लाया जाएगा।

कोरोना वायरस महामारी की वजह से लगाए गए यात्रा प्रतिबंधों की वजह से अमेरिका में फंसे भारतीय छात्रों और लोगों की बड़ी संख्या को देखते हुए आने वाले हफ्तों में उड़ानों की संख्या को बढ़ाया जा सकता है। अमेरिका में भारतीय दूतावास और महावाणिज्य दूतावासों ने हाल ही में स्वदेश लौटने की योजना बनाने वाले भारतीयों की सूची बनाना शुरू की थी। यह फेहरिस्त ऑनलाइन पंजीकरण के माध्यम से बनाई जा रही है।

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस को रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन के चलते दुनिया के विभिन्न देशों में फंसे भारतीयों को अपने देश वापस लाने के लिए केंद्र सरकार द्वारा शुरू किए गए वंदे भारत मिशन के तहत अभी तक कुल 31 उड़ानों से 6037 भारतीयों को वापस लाया जा चुका है। 

नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने बताया कि सात मई 2020 से शुरू हुए मिशन के पहले चरण के तहत अब तक 31 उड़ानों के जरिए 6037 भारतीय नागरिकों को देश वापस लाया जा चुका है। उन्होंने बताया कि पहले चरण में कुल 14,800 भारतीयों को वापस लाने की योजना है। 

बता दें कि वंदे भारत मिशन के तहत एयर इंडिया और उसकी सहायक एयर इंडिया एक्सप्रेस 12 देशों में 64 उड़ानों का परिचालन कर रही है। इनमें 42 उड़ानों का परिचालन एयर इंडिया और 24 उड़ानों का परिचालन एयर इंडिया एक्सप्रेस कर रही है। इन 12 देशों में अमेरिका, लंदन, बांग्लादेश, सिंगापुर, सऊदी अरब, कुवैत, फिलीपींस, यूएई और मलयेशिया आदि शामिल हैं। 

ऑपरेशन समुद्र सेतु से देश वापस आए 202 भारतीय

वहीं, ऑपरेशन समुद्र सेतु के तहत भारतीय नौसेना के पोत ‘आईएनएस मगर’ से 202 भारतीय नागरिक मालदीव से स्देवश वापस लाए गए हैं। आईएनएस मगर केरल के कोच्चि हार्बर पर प्रवेश कर चुका है। आईएनएस मगर शाम 5.45 बजे कोच्चि पोर्ट पर पहुंचा। इससे आए नागरिकों में 91 केरल के, 83 तमिलनाडु के और 28 नागरिक अन्य 15 राज्यों से हैं।

आईएनएस मगर को ऑपरेशन समुद्र सेतु के दूसरे चरण में तैनात किया गया है। पहले चरण में आईएनएस जलश्व से 10 मई को 698 भारतीय नागरिकों को मालदीव से लाया गया था। वहीं, एक रक्षा अधिकारी ने बताया कि 15 मई को आईएनएस जलश्व 700 लोगों को मालदीव से लेकर आएगा।   


आगे पढ़ें

ब्रिटेन में फंसे 331 भारतीय हैदराबाद पहुंचे



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here