There Are Also Signs Of Lockdown 4.0, Know Every Thing About Pm Modi Meeting With Chief Minister – लॉकडाउन 4.0 के भी मिल रहे संकेत, जानिए पीएम मोदी के साथ बैठक में किस मुख्यमंत्री ने क्या कहा

0
20


ख़बर सुनें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग में सोमवार को ‘जन से जग’ का नारा देते हुए आर्थिक गतिविधियां शुरू करने पर जोर दिया। उन्होंने राज्यों से संक्रमण गांवों तक न पहुंचने देने की रणनीति बनाने का आग्रह भी किया।

उन्होंने  कहा कि जरूरत संतुलित रणनीति के साथ आगे बढ़ने और चुनौतियों से निपटने का रास्ता तय करने की है। इस दौरान, पांच राज्यों ने लॉकडाउन 17 मई के बाद भी बढ़ाने की मांग की है। जबकि गुजरात ने इसका विरोध किया। राजस्थान व केरल ने लॉकडाउन में अधिक फैसले ले सकने के लिए राज्यों को और अधिकार देनेे की वकालत की। 

चर्चा के दौरान बिहार, पंजाब, तेलंगाना, पश्चिम बंगाल व महाराष्ट्र ने लॉकडाउन बढ़ाए जाने का समर्थन किया, तो पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु और तेलंगाना ने 12 मई से ट्रेनें चलाने का विरोध किया। राजस्थान ने कहा-रेड, ग्रीन व ऑरेंज जोन तय करने का अधिकार राज्यों को मिले। जबकि, केरल ने लॉकडाउन से जुड़े दिशा-निर्देशों में उचित बदलाव करने की आजादी की मांग की।

लॉकडाउन के तीसरे चरण के बाद की रणनीति तय करने के लिए दो दौर की यह बैठक करीब छह घंटे चली। पीएम मोदी और मुख्यमंत्रियों की यह पांचवीं बैठक थी।

उन्होंने कहा, संक्रमण से निपटने की अब तक रणनीति को सफल रही है इसके कई सुखद परिणाम आए हैं।  राज्यों के सहयोग से देश सही दिशा में आगे बढ़ रहा है। आर्थिक सहित सभी मोर्चों पर अब रणनीति क्या हो, इस पर 15 मई तक राज्यों से कार्ययोजना मांगी, जिसके बाद ही केंद्र दिशा-निर्देश तय करेगा। 

  • तो लॉकडाउन 4.0 भी  

लॉकडाउन 17 मई के बाद भी जारी रह सकता है। हालांकि, चौथे चरण में और छूट मिल सकती है। पीएम मोदी के बैठक में दिए बयान से यह संकेत मिलते हैं। उन्होंने कहा कि मेरा दृढ़ विश्वास है कि लॉकडाउन के पहले चरण में जिन नियमों की दरकार थी, वो दूसरे चरण में जरूरी नहीं रह गईं। उसी तरह तीसरे चरण के नियमों की दरकार चौथे चरण के लॉकडाउन में नहीं है। 

  • कंटेनमेंट जोन छोड़ शुरू हो गतिविधि

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कंटेनमेंट जोन को छोड़कर दिल्ली सरकार सभी तरह की आर्थिक गतिविधियां खोलने को तैयार है, इससे दिल्ली में अर्थव्यवस्था पटरी पर आएगी। 

  • ममता के तेवर…विशेष ट्रेनों पर खड़े किए सवाल

प. बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने तेवर दिखाते हुए केंद्र पर राज्यों की सहमति के बिना निर्णय लेने का आरोप लगाया। सूत्रों के अनुसार, उन्होंने केंद्र पर भेदभाव का भी आरोप लगाया और श्रमिकों के लिए विशेष ट्रेनें चलाने पर सवाल खड़े किए। कहा, ट्रेनों से  श्रमिकों के गृह राज्य लौटने से संकट बढ़ेगा।

  • राज्यों की अपील, मौजूदा हालात में ट्रेन-विमान सेवा न की जाए शुरू

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को मुख्यमंत्रियों से कहा कि भारत ने कोरोना को जिस तरह हैंडल किया है, उसका लोहा दुनिया ने माना है। उन्होंने कहा, ये राज्यों के सहयोग से संभव हो पाया है। उन्होंने कहा ‘जैसे हम सब एक साथ आगे बढ़ रहे थे वैसे ही बढ़ते रहेंगे’। आने वाले दिनों में आर्थिक गतिविधियों को गति मिलेगी। इस दौरान कई मुख्यमंत्रियों ने ट्रेनों व उड़ानों पर रोक की मांग की। वहीं कुछ ने जांच मशीनों, आर्थिक मदद व नई रणनीति बनाने की मांग की।

  • घर जाना इंसानी फितरत  

हमने लोगों से कहा था-जो जहां पर है, वहीं रुका रहे। पर लोग अपने घर जाना चाहते हैं, ये इंसानी फितरत है। इसके चलते फैसले बदलने पड़े। संक्रमण से निपटने के लिए ‘दो गज दूरी’ जरूरी शर्त है। -नरेंद्र मोदी, पीएम

  • लॉकडाउन पर केंद्र का फैसला मंजूर : योगी
यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि लॉकडाउन पर केंद्र सरकार के हर फैसले का पालन किया जाएगा। उन्होंने बताया, अब तक 9 लाख से ज्यादा कामगारों और श्रमिकों को होम क्वारंटीन में भेजा जा चुका हैं। हम उन्हें नौकरी व रोजगार देने की तैयारी कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री योगी ने बताया कि प्रदेश में 2.99 लाख निगरानी पर हैं और 56 हजार से ज्यादा घरों का सर्वे किया गया है। 26 सरकारी लैब में जांच हो रही है। 660 निजी अस्पतालों में आयुष्मान भारत के रेट पर इमरजेंसी सेवाएं प्रारंभ हो चुकी हैं। 

  • चार दिनों में तीन लाख से ज्यादा प्रवासी आए

सीएम योगी ने कहा कि पिछले चार दिनों में तीन लाख से ज्यादा लोग बसों व ट्रेनों के माध्यम से आए हैं। निकट भविष्य में 10 लाख से ज्यादा और आने हैं। 20 लाख को रोजगार देने की तैयारी के लिए हम लेबर रिफॉर्म लेकर आए हैं। लेबर रिफॉर्म उन्हीं जगह लागू किए जाएंगे, जहां नई यूनिट लगेंगी। 

  • महाराष्ट्र : मुंबई में लोकल  रेल चलाने को मिले मंजूरी

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि केंद्र लॉकडाउन को लेकर ठोस और गंभीर निर्देश दे जिसका पालन सभी राज्य करें। इसके साथ ही उन्होंने पीएम मोदी से कहा कि मुंबई में लोकल ट्रेनों के संचालन को मंजूरी दी जाए ताकि जरूरी सेवा से जुड़े लोग आसानी से आ जा सकें।

  • पंजाब : लॉकडाउन का फैसला सही

मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कहा कि लॉकडाउन बढ़ाने का फैसला सही है लेकिन राज्यों को आर्थिक मदद दी जाए। रेड, ऑरेंज, येलो और ग्रीन जोन को जारी रखा जाएगा।

  • तमिलनाडु : परिवहन से हालात बिगड़ेंगे 

मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी ने कहा कि मामले बढ़ने के मद्देनजर 31 मई तक ट्रेन-विमान शुरू न किए जांए। उन्होंने कहा कि मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। ऐसे में और लोग आएंगे तो स्थिति बिगड़ सकती है।

  • आंध्र प्रदेश : संक्रमण पर नई रणनीति बने…

मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने कहा मौजूदा हालात के हिसाब से रणनीति बनानी होगी  ताकि वायरस के बीच जीने को तैयार हो सके। मरीज या उसके परिवारों को हीन भावना से देखा जा रहा है, जिसे खत्म करना होगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग में सोमवार को ‘जन से जग’ का नारा देते हुए आर्थिक गतिविधियां शुरू करने पर जोर दिया। उन्होंने राज्यों से संक्रमण गांवों तक न पहुंचने देने की रणनीति बनाने का आग्रह भी किया।

उन्होंने  कहा कि जरूरत संतुलित रणनीति के साथ आगे बढ़ने और चुनौतियों से निपटने का रास्ता तय करने की है। इस दौरान, पांच राज्यों ने लॉकडाउन 17 मई के बाद भी बढ़ाने की मांग की है। जबकि गुजरात ने इसका विरोध किया। राजस्थान व केरल ने लॉकडाउन में अधिक फैसले ले सकने के लिए राज्यों को और अधिकार देनेे की वकालत की। 

चर्चा के दौरान बिहार, पंजाब, तेलंगाना, पश्चिम बंगाल व महाराष्ट्र ने लॉकडाउन बढ़ाए जाने का समर्थन किया, तो पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु और तेलंगाना ने 12 मई से ट्रेनें चलाने का विरोध किया। राजस्थान ने कहा-रेड, ग्रीन व ऑरेंज जोन तय करने का अधिकार राज्यों को मिले। जबकि, केरल ने लॉकडाउन से जुड़े दिशा-निर्देशों में उचित बदलाव करने की आजादी की मांग की।

लॉकडाउन के तीसरे चरण के बाद की रणनीति तय करने के लिए दो दौर की यह बैठक करीब छह घंटे चली। पीएम मोदी और मुख्यमंत्रियों की यह पांचवीं बैठक थी।

उन्होंने कहा, संक्रमण से निपटने की अब तक रणनीति को सफल रही है इसके कई सुखद परिणाम आए हैं।  राज्यों के सहयोग से देश सही दिशा में आगे बढ़ रहा है। आर्थिक सहित सभी मोर्चों पर अब रणनीति क्या हो, इस पर 15 मई तक राज्यों से कार्ययोजना मांगी, जिसके बाद ही केंद्र दिशा-निर्देश तय करेगा। 

  • तो लॉकडाउन 4.0 भी  

लॉकडाउन 17 मई के बाद भी जारी रह सकता है। हालांकि, चौथे चरण में और छूट मिल सकती है। पीएम मोदी के बैठक में दिए बयान से यह संकेत मिलते हैं। उन्होंने कहा कि मेरा दृढ़ विश्वास है कि लॉकडाउन के पहले चरण में जिन नियमों की दरकार थी, वो दूसरे चरण में जरूरी नहीं रह गईं। उसी तरह तीसरे चरण के नियमों की दरकार चौथे चरण के लॉकडाउन में नहीं है। 

  • कंटेनमेंट जोन छोड़ शुरू हो गतिविधि

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कंटेनमेंट जोन को छोड़कर दिल्ली सरकार सभी तरह की आर्थिक गतिविधियां खोलने को तैयार है, इससे दिल्ली में अर्थव्यवस्था पटरी पर आएगी। 

  • ममता के तेवर…विशेष ट्रेनों पर खड़े किए सवाल

प. बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने तेवर दिखाते हुए केंद्र पर राज्यों की सहमति के बिना निर्णय लेने का आरोप लगाया। सूत्रों के अनुसार, उन्होंने केंद्र पर भेदभाव का भी आरोप लगाया और श्रमिकों के लिए विशेष ट्रेनें चलाने पर सवाल खड़े किए। कहा, ट्रेनों से  श्रमिकों के गृह राज्य लौटने से संकट बढ़ेगा।

  • राज्यों की अपील, मौजूदा हालात में ट्रेन-विमान सेवा न की जाए शुरू



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here