कोरोना वायरस के चलते बैंको ने करा 3 महीने के लिए EMI/लोन में राहत जानिए क्या आपका भी बैंक उनमेसे एक है

0
403
banking-everyone-will-get-the-benefit-of-emi-discount-facility-no-information-will-be-given-to-the-bank-for-this

बैंक ग्राहकों के लिए राहत की सुचना, कुछ सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों ने मंगलवार को भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के निर्देशों के बाद 3 महीने के लिए लोन(ऋण) पर ईएमआई(समान मासिक किस्त) की मोहलत दी है ,जिसमें सभी उधार देने वाले संस्थानों को तीन महीने की अनुमति देने के लिए कहा गया की वह संसथान लोन की भुगतान पर 3 माह के लिए रोक लगाए और ये कदम कोरोना वायरस की वजह से जो अर्थव्यवस्था बिगड़ी है उसके अनुकूल लिया गया है।

28 तारिक को,आरबीआई ने घोषणा की थी कि सभी प्रकार के लोन जैसे की रिटेल और फसल लोन और वर्किंग कैपिटल पेमेंट्स सहित सभी पे तीन महीने के रोक लगाई जाएगी।
बैंकों के पास कार्यशील पूंजी(वर्किंग कैपिटल) की सीमा तय करने का निर्णय है, आरबीआई ने कहा कि किसी भी भुगतान जो की मिस हुआ है उसको डिफ़ॉल्ट नहीं माना जाना चाहिए और क्रेडिट कंपनियों को सूचित किया जाना चाहिए।

जानिए किन किन बैंको ने लोन की छूट दी और क्या आपका भी बैंक उनमे से एक है

स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया (SBI)

  • स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया (SBI): देश के सबसे बड़े कर्ज देनेवाला सेक्टर ने कहा कि कोरोना वायरस के चलते 3 महीने के लिए किस्तों और ईएमआई आगे टाला गया है ताकि जो मध्य वर्गी शेरनी के लोग है उन्हें इस परिस्थि में परेशानी न होSBI ने कहा है की “RBI COVID-19 विनियामक पैकेज के संदर्भ में, SBI ने 1 मार्च, 2020 से 31 मई, 2020 के बीच की अवधि के लोन(ऋणों) की किस्तों पर और ब्याज / EMI को हटाने के लिए कदम उठाए हैं और अवधि को 3 महीने तक बढ़ाया है1 मार्च, 2020 से 31 मई, 2020 तक वर्किंग कैपिटल (कार्यशील पूंजी) सुविधाओं पर ब्याज भी 30 जून, 2020 तक के लिए आगे कर दिया गया है।

पंजाब नेशनल बैंक (PNB)

  • पंजाब नेशनल बैंक (PNB): कोरोनोवायरस महामारी के मद्देनजर, पीएनबी ने 1 मार्च, 2020 से 31 मई, 2020 तक के लोन(ऋणों) पर सभी किस्तों का भुगतान टाल कर अवधि को 3 महीने तक बढ़ाया है।”PNB हमारे ग्राहकों के लिए राहत योजना प्रस्तुत करता है। COVID-19 के मद्देनजर, मार्च लोन(ऋण) और लोन(ऋण) की ब्याज दरों पर सभी किश्तों के भुगतान को आगे करने का निर्णय लिया गया है, जो मार्च 01,2020 और 31 मई 2020 के बीच गिरने वाली नकद लोन(ऋण) सुविधाओं पर ब्याज की वसूली है।”

बैंक ऑफ बड़ौदा(BOB)

  • बैंक ऑफ बड़ौदा(BOB): बैंक ने कॉर्पोरेट ने 01.03.20 और 31.05.20 के बीच, एमएसएमई, कृषि, खुदरा, आवास, ऑटो और अधिक सहित सभी टर्म लोन पर 3 महीने की मोहलत दी है

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया

  • यूनियन बैंक ऑफ इंडिया: बैंक ने कहा: “हम 3 महीने के लिए 01/03/20 से 31/05/20 के बीच गिरने वाली अपनी किश्तों / ब्याज को 3 महीने आगे राहत दे रहे हैं कोरोना वायरस को मद्देनज़र रखते हुए।”

आईडीबीआई बैंक

  • आईडीबीआई बैंक: अन्य बैंकों की तरह, आईडीबीआई ने भी अपने ग्राहकों के लिए ईएमआई अधिस्थगन के विकल्प को तीन महीने के लिए बढ़ा दिया है। हालांकि, बैंक ने कहा कि जिन ग्राहकों के नकदी प्रवाह पर असर नहीं पड़ा है, वे शेड्यूल के अनुसार ईएमआई का भुगतान जारी रख सकते हैं

केनरा बैंक

  • केनरा बैंक:कोविद 19- आरबीआई पैकेज के संदर्भ में, उधारकर्ता पात्र हैं, जो कि 01.03.2020 से 31.05.2020 के बीच की अवधि के लिए गिर रहे टर्म लोन के लिए किस्तों / ईएमआई की अदायगी और पुनर्भुगतान की अवधि के अनुसार बढ़ाया गया है। एसएमएस भी भेजा गया है। ग्राहकों को इसका लाभ उठाने के लिए”

सिंडिकेट बैंक

  • सिंडिकेट बैंक: आवास, वाहन, एमएसएमई लोन(ऋण) और 1 मार्च, 2020 से 31 मई, 2020 तक के सभी गिरते लोन(ऋणों) पर ईएमआई का भुगतान बैंक द्वारा 3 महीने के लिए आगे कर दिया गया है।

इंडियन बैंक

  • इंडियन बैंक: बैंक ने एक बयान में कहा, RBI के कोविद -19 नियामक पैकेज के अनुसार, इंडियन बैंक ने 3 महीने के लिए ईएमआई / टर्म लोन की किस्तों और कार्यशील पूंजी के भुगतान को आगे करने की मोहलत दी है।

यूको बैंक(UCO)

  • यूको बैंक: बैंक ने अपने ग्राहकों का पुनर्भुगतान अनुसूची 3 महीने के लिए बढ़ा दिया है और अगली किश्त अब जून 2020 के महीने में देनी होगी। हालांकि, जो ग्राहक मौजूदा शेड्यूल के अनुसार अपने ईएमआई भुगतान जारी रखना चाहते हैं, वे ऐसा करना जारी रख सकते हैं।

सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया

  • सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया: सेंट्रल बैंक ने 3 महीने की अवधि के लिए मूलधन / ब्याज घटक, बुलेट पुनर्भुगतान, ईएमआई, क्रेडिट कार्ड बकाया सहित किस्तों में किश्तों के भुगतान पर 3 महीने की मोहलत दी है।

इंडियन ओवरसीज बैंक(IOB)

  • इंडियन ओवरसीज बैंक: IOB ने न केवल टर्म लोन के लिए EMI भुगतान को आगे करदिया है बल्कि इसने 1 अप्रैल से अपने रेपो लिंक्ड लेंडिंग रेट को 8 फीसदी से 7.25 फीसदी तक घटा दिया है, जिससे रिटेल और MSME लोन के ग्राहकों को फायदा हुआ है।

आप RBI का वह पूरा कॉन्फ्रेंस यहाँ देख सकते है

क्या आपने भी किसी बैंक से कोई लोन लिया था? और अगर लिया था तो क्या आपका बैंक इस शुचि में है कमेंट करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here