Pm Mod Full Cabinet Meets Historic Decision Is Expected To Taken In This Meeting Says Sources – थोड़ी देर में कैबिनेट की बैठक, ऐतिहासिक फैसला ले सकते हैं पीएम मोदी: सूत्र

0
52


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Updated Mon, 01 Jun 2020 11:36 AM IST

नरेंद्र मोदी (फाइल फोटो)
– फोटो : ANI

ख़बर सुनें

मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला साल पूरा होने के बाद सोमवार को पूरे मंत्रिमंडल की जल्द ही बैठक होने वाली है। सूत्रों के अनुसार इसमें ऐतिहासिक फैसला लिया जा सकता है। सुरक्षा मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति और आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति की भी मंत्रिमंडल के समक्ष बैठक होने की उम्मीद है।
सूत्रों ने कहा, ‘परिवर्तनकारी प्रभाव वाले ऐतिहासिक फैसलों की कैबिनेट में घोषणा होने की उम्मीद है।’ माना जा रहा है कि शीर्ष सुरक्षा पैनल लद्दाख में चीन के साथ गतिरोध पर चर्चा कर सकता है। वहीं आर्थिक मामलों की समिति आज अनलॉक-1 के बाद आर्थिक पुनरुद्धार योजना पर चर्चा कर सकती है। इसमें मॉल, रेस्तरां और पूजा स्थलों सहित विभिन्न क्षेत्रों को फिर से खोलने पर बातचीत हो सकती है।

इससे पहले के चरण में सभी तरह की गतिविधियों पर प्रतिबंध लगा हुआ था। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने शनिवार को जारी नए दिशा-निर्देशों में कहा, ‘अनलॉक-1 के वर्तमान चरण में आर्थिक गतिविधियों पर जोर रहेगा।’ पिछले सप्ताह के सकल घरेलू उत्पाद के आंकड़ों में 11 साल में विकास की सबसे धीमी गति और नवीनतम तिमाही में लॉकडाउन का बड़ा प्रभाव दिखा था।

सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी के अनुमान के मुताबिक, अप्रैल में कुछ 12 करोड़ लोगों का नौकरियां चली गई हैं। आर्थिक गतिविधि को पुनर्जीवित करने के प्रयास में सरकार 20 अप्रैल से लॉकडाउन प्रतिबंधों को कम कर रही है। 

इसी कड़ी में पिछले महीने से घरेलू उड़ानें और ट्रेन सेवाएं शुरू कर दी गई हैं। विश्लेषकों ने चार दशकों से भी अधिक समय में अर्थव्यवस्था के पहले पूर्ण-वर्ष के संकुचन की भविष्यवाणी की है जबकि देश कोरोना वायरस से लड़ रहा है। भारत दुनिया में कोरोना मामलों में सातवें स्थान पर पहुंच गया है।

मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला साल पूरा होने के बाद सोमवार को पूरे मंत्रिमंडल की जल्द ही बैठक होने वाली है। सूत्रों के अनुसार इसमें ऐतिहासिक फैसला लिया जा सकता है। सुरक्षा मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति और आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति की भी मंत्रिमंडल के समक्ष बैठक होने की उम्मीद है।

सूत्रों ने कहा, ‘परिवर्तनकारी प्रभाव वाले ऐतिहासिक फैसलों की कैबिनेट में घोषणा होने की उम्मीद है।’ माना जा रहा है कि शीर्ष सुरक्षा पैनल लद्दाख में चीन के साथ गतिरोध पर चर्चा कर सकता है। वहीं आर्थिक मामलों की समिति आज अनलॉक-1 के बाद आर्थिक पुनरुद्धार योजना पर चर्चा कर सकती है। इसमें मॉल, रेस्तरां और पूजा स्थलों सहित विभिन्न क्षेत्रों को फिर से खोलने पर बातचीत हो सकती है।

इससे पहले के चरण में सभी तरह की गतिविधियों पर प्रतिबंध लगा हुआ था। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने शनिवार को जारी नए दिशा-निर्देशों में कहा, ‘अनलॉक-1 के वर्तमान चरण में आर्थिक गतिविधियों पर जोर रहेगा।’ पिछले सप्ताह के सकल घरेलू उत्पाद के आंकड़ों में 11 साल में विकास की सबसे धीमी गति और नवीनतम तिमाही में लॉकडाउन का बड़ा प्रभाव दिखा था।

सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी के अनुमान के मुताबिक, अप्रैल में कुछ 12 करोड़ लोगों का नौकरियां चली गई हैं। आर्थिक गतिविधि को पुनर्जीवित करने के प्रयास में सरकार 20 अप्रैल से लॉकडाउन प्रतिबंधों को कम कर रही है। 

इसी कड़ी में पिछले महीने से घरेलू उड़ानें और ट्रेन सेवाएं शुरू कर दी गई हैं। विश्लेषकों ने चार दशकों से भी अधिक समय में अर्थव्यवस्था के पहले पूर्ण-वर्ष के संकुचन की भविष्यवाणी की है जबकि देश कोरोना वायरस से लड़ रहा है। भारत दुनिया में कोरोना मामलों में सातवें स्थान पर पहुंच गया है।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here