Lockdown First Special Train For Migrant Workers Will Leave From Delhi For Madhya Pradesh Today – पहली विशेष ट्रेन दिल्ली से मध्यप्रदेश के लिए होगी रवाना, बिहार-यूपी पर फैसला जल्द

0
32


प्रवासी मजदूरों के लिए दिल्ली से रवाना होगी विशेष ट्रेन (फाइल फोटो)
– फोटो : PTI

ख़बर सुनें

देश में जारी लॉकडाउन के बीच देश के विभिन्न हिस्सों में फंसे प्रवासी कामगारों को उनके गृह राज्य वापस भेजने के लिए विशेष ट्रेनें संचालित की जा रही हैं। इसी कड़ी में दिल्ली से प्रवासी कामगारों के लिए पहली विशेष ट्रेन गुरुवार को मध्यप्रदेश के लिए रवाना होगी। यह ट्रेन करीब 1,200 प्रवासियों को उनके गृह राज्य मध्यप्रदेश लेकर जाएगी। यह जानकारी एक अधिकारी ने दी। इसके अलावा दिल्ली सरकार बिहार और उत्तर प्रदेश सरकार के साथ भी बातचीत कर रही है। इन राज्यों के कामगारों को भी वापस भेजा जाएगा।
अधिकारियों के अनुसार, 12 हजार लोग जिसमें बहुत से प्रवासी मजदूर, पर्यटक, श्रद्धालु और छात्र शामिल हैं उन्हेंने बुधवार तक अपने गृह राज्य वापस जाने की इच्छा व्यक्त की। इनमें अस्थायी आवासों रैन बसेरों में फंसे 2,100 प्रवासी शामिल हैं। अधिकारियों ने कहा कि प्रक्रिया अभी जारी है और उन्हें ट्रेनों से वापस भेजने की व्यवस्था की जाएगी।

एक अधिकारी ने कहा, ‘मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और शीर्ष नौकरशाह मध्यप्रदेश सरकार और रेलवे मंत्रालय में सभी हितधारकों के साथ विचार-विमर्श कर रहे हैं और हम उन प्रवासियों को वापस भेजने की प्रक्रिया शुरू करना चाहते हैं जो जल्द से जल्द घर वापस जाना चाहते हैं।’

अधिकारियों ने कहा कि पहली ट्रेन में मध्यप्रदेश जाने वाले यात्रियों की अंतिम सूची तैयार कर ली गई है। अधिकारी ने कहा, ‘यात्रियों की पहले जांच की जाएगी और प्रोटोकॉल के अनुसार केवल स्पर्शोन्मुख लोगों को ट्रेन में चढ़ने की अनुमति दी जाएगी। मध्यप्रदेश सरकार द्वारा उन्हें अपने गांवों तक पहुंचने के लिए परिवहन प्रदान करने से पहले उनकी दोबारा जांच की जाएगी। इन लोगों को आवश्यक रूप से दो हफ्तों के होम क्वारंटीन (एकांतवास) में रहना होगा।’

विभिन्न स्कूलों और खेल परिसरों में बने रैन बसेरों और अस्थायी आवासों में रहने वाले ऐसे लोगों की पहचान करने के अलावा, दिल्ली सरकार ने ऑनलाइन आवेदन मांगे थे। दिल्ली में फंसे अन्य राज्यों के लोगों को सरकार को अपने बारे में जानकारी उपलब्ध कराने में मदद करने के लिए www.delhishelterboard.in पर एक लिंक बनाया गया। सरकार के अनुसार, केवल उन लोगों को उनके गृह राज्य वापस भेजा जाएगा जो काफी परेशान हैं।

देश में जारी लॉकडाउन के बीच देश के विभिन्न हिस्सों में फंसे प्रवासी कामगारों को उनके गृह राज्य वापस भेजने के लिए विशेष ट्रेनें संचालित की जा रही हैं। इसी कड़ी में दिल्ली से प्रवासी कामगारों के लिए पहली विशेष ट्रेन गुरुवार को मध्यप्रदेश के लिए रवाना होगी। यह ट्रेन करीब 1,200 प्रवासियों को उनके गृह राज्य मध्यप्रदेश लेकर जाएगी। यह जानकारी एक अधिकारी ने दी। इसके अलावा दिल्ली सरकार बिहार और उत्तर प्रदेश सरकार के साथ भी बातचीत कर रही है। इन राज्यों के कामगारों को भी वापस भेजा जाएगा।

अधिकारियों के अनुसार, 12 हजार लोग जिसमें बहुत से प्रवासी मजदूर, पर्यटक, श्रद्धालु और छात्र शामिल हैं उन्हेंने बुधवार तक अपने गृह राज्य वापस जाने की इच्छा व्यक्त की। इनमें अस्थायी आवासों रैन बसेरों में फंसे 2,100 प्रवासी शामिल हैं। अधिकारियों ने कहा कि प्रक्रिया अभी जारी है और उन्हें ट्रेनों से वापस भेजने की व्यवस्था की जाएगी।

एक अधिकारी ने कहा, ‘मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और शीर्ष नौकरशाह मध्यप्रदेश सरकार और रेलवे मंत्रालय में सभी हितधारकों के साथ विचार-विमर्श कर रहे हैं और हम उन प्रवासियों को वापस भेजने की प्रक्रिया शुरू करना चाहते हैं जो जल्द से जल्द घर वापस जाना चाहते हैं।’

अधिकारियों ने कहा कि पहली ट्रेन में मध्यप्रदेश जाने वाले यात्रियों की अंतिम सूची तैयार कर ली गई है। अधिकारी ने कहा, ‘यात्रियों की पहले जांच की जाएगी और प्रोटोकॉल के अनुसार केवल स्पर्शोन्मुख लोगों को ट्रेन में चढ़ने की अनुमति दी जाएगी। मध्यप्रदेश सरकार द्वारा उन्हें अपने गांवों तक पहुंचने के लिए परिवहन प्रदान करने से पहले उनकी दोबारा जांच की जाएगी। इन लोगों को आवश्यक रूप से दो हफ्तों के होम क्वारंटीन (एकांतवास) में रहना होगा।’

विभिन्न स्कूलों और खेल परिसरों में बने रैन बसेरों और अस्थायी आवासों में रहने वाले ऐसे लोगों की पहचान करने के अलावा, दिल्ली सरकार ने ऑनलाइन आवेदन मांगे थे। दिल्ली में फंसे अन्य राज्यों के लोगों को सरकार को अपने बारे में जानकारी उपलब्ध कराने में मदद करने के लिए www.delhishelterboard.in पर एक लिंक बनाया गया। सरकार के अनुसार, केवल उन लोगों को उनके गृह राज्य वापस भेजा जाएगा जो काफी परेशान हैं।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here