Langoor Handler At Rail Bhawan Found Covid-19 Positive Section Of Officials Placed In Home Quarantine – रेल भवन में लंगूर की देखभाल करने वाला कर्मचारी कोविड-19 से संक्रमित, 15 कर्मी क्वारंटीन

0
69


ख़बर सुनें

रेल भवन में बंदरों को भगाने के लिए तैनात एक लंगूर की देखभाल करने वाले कर्मचारी में कोविड-19 संक्रमण की पुष्टि हुई है, जिसके बाद 15 रेल कर्मियों को घर में पृथक-वास में भेज दिया गया है। सूत्रों ने शनिवार को यह जानकारी दी।

यह अनुबंधित कर्मचारी चार मई को आखिरी बार परिसर आया था और 14 मई को उसमें संक्रमण की पुष्टि हुई। रेलवे सुरक्षा बल के कर्मचारी में संक्रमण की पुष्टि होने के बाद रेल मुख्यालय में कोविड-19 का यह दूसरा मामला है।

सरकारी नीति के अनुसार ऐसे कर्मियों को मध्य दिल्ली के अधिकांश सरकारी भवनों के पास पाए जाने वाले बंदरों को डरा कर भगाने के लिए तैनात किया जाता है। यह कर्मचारी सामान्य शाखा के अधिकारियों के संपर्क में आया था, जिसे देखते हुए इन सभी को 18 मई तक घर में पृथक-वास में भेजा गया है।

नई दिल्ली में रायसीना रोड पर स्थित पांच-मंजिला रेल भवन की चौथी मंजिल पर आरपीएफ कार्यालय में कोविड-19 संक्रमण का मामला सामने आने के बाद पूरे परिसर को पहले से ही संक्रमणमुक्त किया जा रहा था। यह कर्मी छह मई तक कार्यालय आया था। संक्रमण की पुष्टि के बाद रेल मुख्यालय को दो दिनों(14-15 मई) के लिए सील कर दिया गया था।

रेल भवन में बंदरों को भगाने के लिए तैनात एक लंगूर की देखभाल करने वाले कर्मचारी में कोविड-19 संक्रमण की पुष्टि हुई है, जिसके बाद 15 रेल कर्मियों को घर में पृथक-वास में भेज दिया गया है। सूत्रों ने शनिवार को यह जानकारी दी।

यह अनुबंधित कर्मचारी चार मई को आखिरी बार परिसर आया था और 14 मई को उसमें संक्रमण की पुष्टि हुई। रेलवे सुरक्षा बल के कर्मचारी में संक्रमण की पुष्टि होने के बाद रेल मुख्यालय में कोविड-19 का यह दूसरा मामला है।

सरकारी नीति के अनुसार ऐसे कर्मियों को मध्य दिल्ली के अधिकांश सरकारी भवनों के पास पाए जाने वाले बंदरों को डरा कर भगाने के लिए तैनात किया जाता है। यह कर्मचारी सामान्य शाखा के अधिकारियों के संपर्क में आया था, जिसे देखते हुए इन सभी को 18 मई तक घर में पृथक-वास में भेजा गया है।

नई दिल्ली में रायसीना रोड पर स्थित पांच-मंजिला रेल भवन की चौथी मंजिल पर आरपीएफ कार्यालय में कोविड-19 संक्रमण का मामला सामने आने के बाद पूरे परिसर को पहले से ही संक्रमणमुक्त किया जा रहा था। यह कर्मी छह मई तक कार्यालय आया था। संक्रमण की पुष्टि के बाद रेल मुख्यालय को दो दिनों(14-15 मई) के लिए सील कर दिया गया था।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here