Government Should Inject Cash To Start Economy Or Else Middle Class Will Become Poor And Capitalists Will Become The Owners Of The Country: Rahul – सरकार दे नकद राशि वरना मध्यमवर्ग हो जाएगा गरीब और पूंजीपति बन जाएंगे देश के मालिक: राहुल

0
26


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Updated Sat, 13 Jun 2020 10:57 PM IST

कांग्रेस नेता राहुल गांधी (फाइल फोटो)
– फोटो : ANI

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर Free में
कहीं भी, कभी भी।

70 वर्षों से करोड़ों पाठकों की पसंद

ख़बर सुनें

देशभर में कोरोना और लॉकडाउन की वजह से व्यापार और अर्थव्यवस्था पर बड़ा असर हुआ है। रिपोर्ट्स के मुताबिक इस वैश्विक महामारी की वजह से लाखों-करोड़ों लोग बेरोजगार हो गए हैं और कइयों को नौकरी से भी हाथ धोना पड़ा है।

ऐसी ही एक खबर पर प्रतिक्रिया देते हुए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्र सरकार को इस समस्या से निपटने के लिए एक सुझाव दिया। उन्होंने दावा किया कि अगर सरकार ने अर्थव्यवस्था को शुरू करने के लिए नकद राशि खर्च नहीं की तो देश के गरीब तबाह हो जाएंगे और सांठगांठ वाले पूंजीपति (क्रोनी कैपिटलिस्ट) देश के मालिक बन जाएंगे।

उन्होंने एक निजी कंपनी में छंटनी से जुड़ी खबर का हवाला देते हुए ट्वीट किया, ‘अगर भारत सरकार अर्थव्यवस्था को शुरू करने के लिए अब नकद नहीं डालती है तो गरीब तबाह हो जाएंगे, मध्य वर्ग नया गरीब हो जाएगा। सांठगांठ वाले पूजी पूरे देश के मालिक बन जाएंगे।’

गौरतलब है कि कोरोना वायरस से जुड़े संकट के आरंभ होने के बाद से यह मांग कर रही है कि देश में आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों को अगले कुछ महीनों के लिए 7500 रुपये मासिक की मदद दी जाए और छोटे कारोबारों तथा नौकरियां बचाने के लिए भी वित्तीय पैकेज दिया जाए।

देशभर में कोरोना और लॉकडाउन की वजह से व्यापार और अर्थव्यवस्था पर बड़ा असर हुआ है। रिपोर्ट्स के मुताबिक इस वैश्विक महामारी की वजह से लाखों-करोड़ों लोग बेरोजगार हो गए हैं और कइयों को नौकरी से भी हाथ धोना पड़ा है।

ऐसी ही एक खबर पर प्रतिक्रिया देते हुए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्र सरकार को इस समस्या से निपटने के लिए एक सुझाव दिया। उन्होंने दावा किया कि अगर सरकार ने अर्थव्यवस्था को शुरू करने के लिए नकद राशि खर्च नहीं की तो देश के गरीब तबाह हो जाएंगे और सांठगांठ वाले पूंजीपति (क्रोनी कैपिटलिस्ट) देश के मालिक बन जाएंगे।

उन्होंने एक निजी कंपनी में छंटनी से जुड़ी खबर का हवाला देते हुए ट्वीट किया, ‘अगर भारत सरकार अर्थव्यवस्था को शुरू करने के लिए अब नकद नहीं डालती है तो गरीब तबाह हो जाएंगे, मध्य वर्ग नया गरीब हो जाएगा। सांठगांठ वाले पूजी पूरे देश के मालिक बन जाएंगे।’

गौरतलब है कि कोरोना वायरस से जुड़े संकट के आरंभ होने के बाद से यह मांग कर रही है कि देश में आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों को अगले कुछ महीनों के लिए 7500 रुपये मासिक की मदद दी जाए और छोटे कारोबारों तथा नौकरियां बचाने के लिए भी वित्तीय पैकेज दिया जाए।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here