Covid19 Pandemic Stress Makes Two Thirds Of India’s Young Adult Smokers To Quit – सिगरेट छोड़ने की इच्छा रखने वालों की संख्या बढ़ी, लॉकडाउन ने बदल दी जिंदगी

0
26


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Updated Tue, 12 May 2020 06:03 AM IST

कोरोना में धूम्रपान
– फोटो : social media

ख़बर सुनें

कोरोना वायरस से पूरी दुनिया आहत है। वहीं जानलेवा वायरस की दहशत के बाद धूम्रपान छोड़ने की इच्छा रखने वालों की संख्या बढ़ गई है। कई लोगों की जिंदगी बदल चुकी है। पांच देश भारत, अमेरिका, ब्रिटेन, इटली और दक्षिण अफ्रीका में हुए सर्वे में पता चला कि इन देशों के लोगों में धूम्रपान करने वाले लोग इसे छोड़ने के इच्छुक हैं। उन्हें डर है कि धूम्रपान से वे वायरस की चपेट में आ सकते हैं।

स्मोक फ्री वर्ल्ड फाउंडेशन की ओर से नीलसन कंपनी ने तंबाकू उत्पादों, निकोटीन और सोशल डिस्टेंसिंग के बिंदुओं पर 6,801 लोगों पर स्मोकिंग पूल किया। फाउंडेशन के डॉ. डेरेक याच ने बताया कि भारत में कुल 1500 लोग सर्वे में शामिल हुए जिसमें एक तिहाई लोगों ने धूम्रपान छोड़ने की इच्छा जताई।

खास बात ये है कि इस तरह की अपील युवाओं में अधिक दिखी। लॉकडाउन के दौरान 18 से 24 वर्ष के 72 फीसदी युवाओं और 25 से 39 वर्ष के 69 फीसदी ने धूम्रपान छोड़ने की कोशिश कर चुके हैं। रिपोर्ट के अनुसार भारत में अन्य देशों की तुलना में धूम्रपान छोड़ने की इच्छा रखने वालों की संख्या अधिक है। 

कोरोना वायरस से पूरी दुनिया आहत है। वहीं जानलेवा वायरस की दहशत के बाद धूम्रपान छोड़ने की इच्छा रखने वालों की संख्या बढ़ गई है। कई लोगों की जिंदगी बदल चुकी है। पांच देश भारत, अमेरिका, ब्रिटेन, इटली और दक्षिण अफ्रीका में हुए सर्वे में पता चला कि इन देशों के लोगों में धूम्रपान करने वाले लोग इसे छोड़ने के इच्छुक हैं। उन्हें डर है कि धूम्रपान से वे वायरस की चपेट में आ सकते हैं।

स्मोक फ्री वर्ल्ड फाउंडेशन की ओर से नीलसन कंपनी ने तंबाकू उत्पादों, निकोटीन और सोशल डिस्टेंसिंग के बिंदुओं पर 6,801 लोगों पर स्मोकिंग पूल किया। फाउंडेशन के डॉ. डेरेक याच ने बताया कि भारत में कुल 1500 लोग सर्वे में शामिल हुए जिसमें एक तिहाई लोगों ने धूम्रपान छोड़ने की इच्छा जताई।

खास बात ये है कि इस तरह की अपील युवाओं में अधिक दिखी। लॉकडाउन के दौरान 18 से 24 वर्ष के 72 फीसदी युवाओं और 25 से 39 वर्ष के 69 फीसदी ने धूम्रपान छोड़ने की कोशिश कर चुके हैं। रिपोर्ट के अनुसार भारत में अन्य देशों की तुलना में धूम्रपान छोड़ने की इच्छा रखने वालों की संख्या अधिक है। 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here