Coronavirus Politics: Ravi Shankar Prasad Says Rahul Gandhi Spreading Lies On Coronavirus, Facts Are Being Manipulated – राहुल को रविशंकर का जवाब- कोरोना फैला रहे हैं झूठ, लड़ाई कर रहे कमजोर

0
34


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Updated Wed, 27 May 2020 12:42 PM IST

रवि शंकर प्रसाद (फाइल फोटो)
– फोटो : PTI

ख़बर सुनें

कोरोना वायरस संकट के दौर में सरकार और कांग्रेस के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर लगातार जारी है। इसे लेकर सियासत हर रोज आगे बढ़ रही है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी लगातार मोदी सरकार पर हमलावर हैं और जवाब में सरकार व भाजपा नेताओं की तरफ से राहुल पर निशाना साध रहे हैं। राहुल ने मंगलवार को लॉकडाउन को पूरी तरह फेल बताते हुए पीएम मोदी से आगे की रणनीति के बारे में पूछा था।  

भाजपा के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय कानून मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने कोरोना वायरस पर हो रही राजनीति को लेकर कांग्रेस नेता और वायनाड सांसद राहुल गांधी को निशाने पर लिया है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि राहुल कोरोना पर झूठ फैलाने में लगे हुए हैं। 

रविशंकर ने क्या-क्या कहा

  • जब से कोरोना की दुर्भाग्यपूर्ण परिस्थिति आई है, तब से राहुल गांधी देश के संकल्प को इस लड़ाई के मामले में कमजोर करने की कोशिश कर रहे हैं। 
  •  
  • दुनिया के 15 ऐसे देश जहां कोरोना बड़ी बीमारी बन गया है उसकी आबादी है 142 करोड़। उसमें अमेरिका, इंग्लैंड, फ्रांस, जर्मनी, इटली, कनाडा व अन्य देश हैं। इन देशों में 26 मई तक करीब 3.43 लाख लोगों की मृत्यु कोरोना से हुई है।
  •  
  • भारत की आबादी है 137 करोड़ और हमारे देश में 4,345 लोगों की मृत्यु हुई है। 64 हजार से ज्यादा रिकवरी हुई है। वैसे मृत्यु कहीं भी वो वो दुर्भाग्यपूर्ण है। प्रधानमंत्री जी ने लॉकडाउन करके जो देश को एकजुट किया है, ये उसी का नतीजा है।  
  •  
  • प्रधानमंत्री जी ने जब देश से आग्रह किया था कि कोरोना वॉरियर्स के लिए ताली बजाकर, घंटी बजाकर उनका हौसला बढ़ाएं, तो देश ने ऐसा किया। आज दुनिया इसे फॉलो कर रही है। राहुल गांधी ने कहा कि कोरोना वायरस हमारी अर्थव्यवस्था पर बड़ा प्रहार है। ताली बजाने से उन्हें कोई मदद नहीं मिलेगी। देश को एक बड़े आर्थिक पैकेज की जरूरत है। पूरा देश जब ताली बजा रहा था तो राहुल गांधी ने इसका खंडन किया। 
  •  
  • राहुल गांधी ने पहले कहा था कि लॉकडाउन कोविड-19 का समाधान नहीं है। इसके उलट पंजाब और राजस्थान ने सबसे पहले लॉकडाउन लागू किया, महाराष्ट्र में 31 मई तक इसे बढ़ाया गया। तो क्या आपके (राहुल) सीएम ही आपकी बात नहीं सुनते?

 

कोरोना वायरस संकट के दौर में सरकार और कांग्रेस के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर लगातार जारी है। इसे लेकर सियासत हर रोज आगे बढ़ रही है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी लगातार मोदी सरकार पर हमलावर हैं और जवाब में सरकार व भाजपा नेताओं की तरफ से राहुल पर निशाना साध रहे हैं। राहुल ने मंगलवार को लॉकडाउन को पूरी तरह फेल बताते हुए पीएम मोदी से आगे की रणनीति के बारे में पूछा था।  

भाजपा के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय कानून मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने कोरोना वायरस पर हो रही राजनीति को लेकर कांग्रेस नेता और वायनाड सांसद राहुल गांधी को निशाने पर लिया है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि राहुल कोरोना पर झूठ फैलाने में लगे हुए हैं। 

रविशंकर ने क्या-क्या कहा

  • जब से कोरोना की दुर्भाग्यपूर्ण परिस्थिति आई है, तब से राहुल गांधी देश के संकल्प को इस लड़ाई के मामले में कमजोर करने की कोशिश कर रहे हैं। 
  •  
  • दुनिया के 15 ऐसे देश जहां कोरोना बड़ी बीमारी बन गया है उसकी आबादी है 142 करोड़। उसमें अमेरिका, इंग्लैंड, फ्रांस, जर्मनी, इटली, कनाडा व अन्य देश हैं। इन देशों में 26 मई तक करीब 3.43 लाख लोगों की मृत्यु कोरोना से हुई है।
  •  
  • भारत की आबादी है 137 करोड़ और हमारे देश में 4,345 लोगों की मृत्यु हुई है। 64 हजार से ज्यादा रिकवरी हुई है। वैसे मृत्यु कहीं भी वो वो दुर्भाग्यपूर्ण है। प्रधानमंत्री जी ने लॉकडाउन करके जो देश को एकजुट किया है, ये उसी का नतीजा है।  
  •  
  • प्रधानमंत्री जी ने जब देश से आग्रह किया था कि कोरोना वॉरियर्स के लिए ताली बजाकर, घंटी बजाकर उनका हौसला बढ़ाएं, तो देश ने ऐसा किया। आज दुनिया इसे फॉलो कर रही है। राहुल गांधी ने कहा कि कोरोना वायरस हमारी अर्थव्यवस्था पर बड़ा प्रहार है। ताली बजाने से उन्हें कोई मदद नहीं मिलेगी। देश को एक बड़े आर्थिक पैकेज की जरूरत है। पूरा देश जब ताली बजा रहा था तो राहुल गांधी ने इसका खंडन किया। 
  •  
  • राहुल गांधी ने पहले कहा था कि लॉकडाउन कोविड-19 का समाधान नहीं है। इसके उलट पंजाब और राजस्थान ने सबसे पहले लॉकडाउन लागू किया, महाराष्ट्र में 31 मई तक इसे बढ़ाया गया। तो क्या आपके (राहुल) सीएम ही आपकी बात नहीं सुनते?

 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here