भारत में कोरोना वायरस की पहली तस्वीर आयी सामने

0
160
corona virus live update in india
Transmission electron microscopy imaging of Covid-19 | Photo from Indian Journal of Medical Research
  • एक हाई पावर वाले मिरकोस्कोपे की मदत से एक तस्वीर सामने आयी है जो की एक इंसान के गले की है जो की कोरोना वायरस को समझने में भारतीय वैज्ञानिको की मदत करेगी ।
  • ये दूसरे विरुसो की तरह गोल आकर में है और लगभग 70 से 80 नमोमेटेर जितना है।
  • इंसान के बाल 80000 नमोमेटेर के होते है तो आप अंदाज़ा लगा सकते है ये वायरस कितना छोटा है।
  • यह रिपोर्ट ‘Indian Journal of Medical Sciences’ साइंसेज में पब्लिश हुई हे जो की National Institute of Virology पुणे द्वारा की गयी है|
  • इन चित्रों का सैंपल केरल में एक महिला के गले की खराबी से लिया गया था, जो की भारत का पहला पुष्टिकरण covid 19 मामला है।
  • कोरोना वायरस के स्ट्रक्चर और इसके जड़ को समझने के लिए इसका अध्ययन करना महत्वपूर्ण है और इसका मुकाबला करने के लिए टीके विकसित करना। अतः ये भी जानना की यह अन्य वायरस के साथ इसका कैसा प्रभाव होता है ताकी इससे कम कर के इस्पे काबू पाया जा सके। इस सैंपल में, कोरोनवायरस की दो तस्वीरें सामने आयी है।
  • हाल ही में अमेरिका ने एक वैक्सीन का परीक्षण किया है जिसका पतिजा आना बाकी है|
  • भारतीय विज्ञानिको द्वारा इसकी माइक्रोस्कोपिक तस्वीर निकलने से इसकी इलाज की दिशा में इसके अध्यन का रास्ता साफ़ हुआ है |

क्या ये प्राकृतिक करणो से उपजी है या मानव निर्मित है?

  • वैज्ञानिक इस कोरोना वायरस के बारे में पता लगा रहे है और जांच कर रहे की आखिर ये महामारी कैसे फेल रही है
  • क्या ये प्राकृतिक करणो से उपजी है या मानव निर्मित है? इन सभी सवालों की तलाश के लिए सभी देश के वैज्ञानिक लगे हुऐ है |
  • दुनिया के साथ साथ भारत में भी कोरोना वायरस का असर तेज़ी से बढ़ता जारहा है।180 देशो में फेल चूका ये वायरस 22000 से जादा जाने ले चुका है, करीबन 5 लाख लोग इस से संक्रमित है।
  • भारत में इस वायरस से संक्रमित लोगो की संख्या 900 से जादा होगयी है पिछले 24 घंटे में इसके 100 नए मामले सामने आये है।
  • जिसमे अभी तक 19 लोगो की मौत होचुकी है हालॉकि 66 मरीज इस बीमारी को हारने मई कामियाब भी हुऐ है ।
    ज्यादातर मौते जो हुऐ है या तो उन्हें लम्बे समय से कोई बीमारी थी या वह लोग उम्र मई ज़्यादा थे या उन्हें सास या गले में तकलीफ थी और वह लोग धूम्रपान करते थे ।
  • सरकार और वैज्ञानिक अपनी पूरी कोशिश कर रहे है की इस बीमारी पे जल्दी से काबनु पा सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here