Chinese Choppers Spotted Near Lac In Ladakh After Scuffle Between Two Countries Troops, Ias Jets Rushed In – लद्दाख में उड़ता दिखाई दिया चीनी हेलिकॉप्टर, वायुसेना ने तैनात किया लड़ाकू विमान

0
25


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Updated Tue, 12 May 2020 10:57 AM IST

वायुसेना का विमान (फाइल फोटो)
– फोटो : ANI

ख़बर सुनें

चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी और भारतीय सैनिकों के बीच हाल ही में उत्तरी सिक्किम में झड़प हुई। जिसमें दोनों ही पक्ष घायल हुए थे। अब लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर चीनी हेलिकॉप्टर उड़ते हुए दिखाई दिए। जिसके बाद भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमान वहां पेट्रोलिंग के लिए पहुंचे।

यह घटना पिछले हफ्ते लगभग उसी समय घटी जब चीनी और भारतीय सैनिकों के बीच सिक्किम में झड़प हुई थी। सरकारी सूत्र ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया, ‘चीनी सैन्य हेलीकॉप्टर वास्तविक नियंत्रण रेखा के बहुत करीब से उड़ान भर रहे थे। उनके विमानों की गतिविधि पता चलने के बाद भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमान ने क्षेत्र में गश्त लगाई।’

नाम न जाहिर करने की शर्त पर सरकारी सूत्रों ने बताया कि चीनी हेलिकॉप्टर वास्तविक नियंत्रण रेखा को पार करके भारतीय क्षेत्र में नहीं आए। भारतीय वायुसेना अक्सर अपने सुखोई 30 एमकेआई लड़ाकू विमानों और अन्य विमानों के साथ लद्दाख के लेह हवाई अड्डे से उड़ान भरती है।

भारतीय वायुसेना के लेह और थोईस एयरबेस सहित लद्दाख क्षेत्र में दो एयरबेस हैं, जहां लड़ाकू विमान स्थायी रूप से तैनात नहीं हैं, लेकिन लड़ाकू विमान स्क्वाड्रन से टुकड़ी साल भर परिचालन की स्थिति में रहती है। अतीत में कई मौकों पर चीनी सैन्य हेलीकॉप्टरों ने लद्दाख सेक्टर में भारतीय हवाई क्षेत्र में प्रवेश किया है।

चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी और भारतीय सैनिकों के बीच हाल ही में उत्तरी सिक्किम में झड़प हुई। जिसमें दोनों ही पक्ष घायल हुए थे। अब लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर चीनी हेलिकॉप्टर उड़ते हुए दिखाई दिए। जिसके बाद भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमान वहां पेट्रोलिंग के लिए पहुंचे।

यह घटना पिछले हफ्ते लगभग उसी समय घटी जब चीनी और भारतीय सैनिकों के बीच सिक्किम में झड़प हुई थी। सरकारी सूत्र ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया, ‘चीनी सैन्य हेलीकॉप्टर वास्तविक नियंत्रण रेखा के बहुत करीब से उड़ान भर रहे थे। उनके विमानों की गतिविधि पता चलने के बाद भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमान ने क्षेत्र में गश्त लगाई।’

नाम न जाहिर करने की शर्त पर सरकारी सूत्रों ने बताया कि चीनी हेलिकॉप्टर वास्तविक नियंत्रण रेखा को पार करके भारतीय क्षेत्र में नहीं आए। भारतीय वायुसेना अक्सर अपने सुखोई 30 एमकेआई लड़ाकू विमानों और अन्य विमानों के साथ लद्दाख के लेह हवाई अड्डे से उड़ान भरती है।

भारतीय वायुसेना के लेह और थोईस एयरबेस सहित लद्दाख क्षेत्र में दो एयरबेस हैं, जहां लड़ाकू विमान स्थायी रूप से तैनात नहीं हैं, लेकिन लड़ाकू विमान स्क्वाड्रन से टुकड़ी साल भर परिचालन की स्थिति में रहती है। अतीत में कई मौकों पर चीनी सैन्य हेलीकॉप्टरों ने लद्दाख सेक्टर में भारतीय हवाई क्षेत्र में प्रवेश किया है।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here