Banana Covid Or Fusarium Wilt Tr4 Attack Now After Covid-19, Know What Is The Danger From This Disease – कोविड-19 के बाद अब बनाना कोविड का हमला, जानें इस बीमारी से क्या है खतरा?

0
24


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Updated Wed, 27 May 2020 01:58 AM IST

ख़बर सुनें

भारत इस समय कोरोना वायरस से मुकाबला कर रहा है। इस खतरनाक बीमारी से अब तक एक लाख से भी ज्यादा लोग प्रभावित हो चुके हैं। देश अभी इस महामारी का सामना कर ही रहा है कि अब एक और नई बीमारी ने भारत में दस्तक दे दी है। इस बीमारी का नाम है बनाना कोविड। हालांकि, इस बीमारी से इंसानों को कोई खतरा नहीं है। ऐसे में अब आप सोच रहे होंगे कि फिर ये कैसी बीमारी है? तो इसका जवाब है कि बनाना कोविड से इंसानों को नहीं बल्कि, फसलों को नुकसान पहुंचता है।

बनाना कोविड एक तरह का फंगस है, जिसका वैज्ञानिक नाम फ्यूजेरियम विल्ट टीआर4 है। यह बीमारी केले की फसल को बर्बाद कर देती है। यहां आपकी जानकारी के लिए बता दें कि दुनिया में सबसे ज्यादा केले का उत्पादन भारत में होता है। ऐसे में यह बीमारी भारत के लिए चिंता बढ़ाने का काम कर रही है।

बनाना कोविड की शुरुआत ताइवान से हुई थी। इसके बाद यह मिडिल ईस्ट के देशों में पहुंचा, और यहां से होते हुए अफ्रीका पहुंचा। यह बीमारी इन जगहों से होते हुए फिर लैटिन अमेरिकी देशों में पहुंच गई। विशेषज्ञों का कहना है कि बनाना कोविड का सबसे ज्यादा असर उत्तर प्रदेश और बिहार के खेतों में देखने को मिल सकता है। हालांकि, इसके प्रभाव को कम करने की लगातार कोशिशें की जा रही हैं।

भारत इस समय कोरोना वायरस से मुकाबला कर रहा है। इस खतरनाक बीमारी से अब तक एक लाख से भी ज्यादा लोग प्रभावित हो चुके हैं। देश अभी इस महामारी का सामना कर ही रहा है कि अब एक और नई बीमारी ने भारत में दस्तक दे दी है। इस बीमारी का नाम है बनाना कोविड। हालांकि, इस बीमारी से इंसानों को कोई खतरा नहीं है। ऐसे में अब आप सोच रहे होंगे कि फिर ये कैसी बीमारी है? तो इसका जवाब है कि बनाना कोविड से इंसानों को नहीं बल्कि, फसलों को नुकसान पहुंचता है।

बनाना कोविड एक तरह का फंगस है, जिसका वैज्ञानिक नाम फ्यूजेरियम विल्ट टीआर4 है। यह बीमारी केले की फसल को बर्बाद कर देती है। यहां आपकी जानकारी के लिए बता दें कि दुनिया में सबसे ज्यादा केले का उत्पादन भारत में होता है। ऐसे में यह बीमारी भारत के लिए चिंता बढ़ाने का काम कर रही है।

बनाना कोविड की शुरुआत ताइवान से हुई थी। इसके बाद यह मिडिल ईस्ट के देशों में पहुंचा, और यहां से होते हुए अफ्रीका पहुंचा। यह बीमारी इन जगहों से होते हुए फिर लैटिन अमेरिकी देशों में पहुंच गई। विशेषज्ञों का कहना है कि बनाना कोविड का सबसे ज्यादा असर उत्तर प्रदेश और बिहार के खेतों में देखने को मिल सकता है। हालांकि, इसके प्रभाव को कम करने की लगातार कोशिशें की जा रही हैं।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here