जम्मू में लड़कियों को हथियारों की ट्रेनिंग

0
105



इमेज कॉपीरइट
MIR IMRAN GREATER KASHMIR

हाथ में बंदूक, तलवार और कटार लिए जम्मू की ये लड़कियां ख़ुद को महफ़ूज़ रखने की ट्रेनिंग का हिस्सा हैं. स्कूल में पढ़ने वाली इन लड़कियों को ख़ुद की सुरक्षा करना सिखाया जा रहा है.

इमेज कॉपीरइट
MIR IMRAN GREATER KASHMIR

राष्ट्र सेविका समिति ने जम्मू के दीवान बद्री नाथ स्कूल में 19 जून से 4 जुलाई तक लड़कियों को हथियारों के साथ अपनी रक्षा करने की ट्रेनिंग दी है,जिसमें 52 लड़कियों ने भाग लिया.

इमेज कॉपीरइट
MIR IMRAN GREATER KASHMIR

समिति की अखिल भारतीय प्रमुख संचालिका शांता कुमारी का कहना है, “महिलाओं में असीम शक्ति है यदि वो अपनी शक्ति को पहचानें और उसका सदुपयोग करें तो परिवार, समाज व राष्ट्र का उत्थान निश्चित रूप से होगा. नई पीढ़ी के लिए ज़रूरी है कि वो अपने पूर्वजों के विचारों को अपनाएं “

इमेज कॉपीरइट
MIR IMRAN GREATER KASHMIR

इस दौरान लड़कियों ने शारीरिक प्रशिक्षण में योगासन, तलवार और राइफ़ल चलाने की ट्रेनिंग ली.

इमेज कॉपीरइट
MIR IMRAN GREATER KASHMIR

इसके अलावा उन्हें आपदा प्रबंधन और देशभक्ति बारे में भी बताया गया. समापन समारोह के दौरान ट्रेनिंग में शामिल लड़कियों ने 15 दिनों में सीखे सुरक्षा के सभी गुरों का सामूहिक प्रदर्शन किया.

इमेज कॉपीरइट
MIR IMRAN GREATER KASHMIR

आम तौर पर राष्ट्र सेविका समिति को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की महिला शाखा समझा जाता है लेकिन समिति का दावा है कि ये एक आज़ाद संस्था है और सिर्फ आरएसएस के विचारों का प्रचार करती है.

इमेज कॉपीरइट
MIR IMRAN GREATER KASHMIR

राष्ट्र सेविका समिति एक हिन्दू संगठन है और समिति की मेम्बरशिप सिर्फ महिलाओं को ही मिलती है.

बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप

यहाँ क्लिक कर सकते हैं. आप हमें

फ़ेसबुक और

ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here